Home ट्रेंडिंग सावधान !कहीं आप भी EMI पर मिली छूट का फायदा तो नहीं उठा रहे ?

सावधान !कहीं आप भी EMI पर मिली छूट का फायदा तो नहीं उठा रहे ?

26 second read
0
0
115

आज RBI के गवर्नर शक्तिकांत दास की प्रेस कांफ्रेस जैसे ही खत्म हुई वैसे ही न्यूज चैनलों पर सरकार की जय जयकार होने लगी। ऐसा लगा जैसे मोदी सरकार ने हिन्दुस्तान की जनता के लिए कितना बड़ा दिल खोल दिया है।

लेकिन क्या बात इतनी सीधी सीधी और साफ साफ है ?

क्या बैंक वालों ने आपका लॉकडाउन दर्द देखकर अपना दिल बड़ा कर लिया है?

जी नहीं.. इस मसले के पेंच को समझना आपके लिए बेहद जरूरी है और साथ ही अगले 6 महीने तक EMI जमा ना करने की दी गई छूट के पीछे क्या खेल है ये भी समझ लीजिए वर्ना आप बड़ी मुश्किल में भी फंस सकते हैं। कहीं ऐसा ना हो कि आप 6 महीने EMI जमा ना करें और आपको बाद में लगे तगड़ा झटता। क्योंकि जो बातें दरअसल सामने से राहत बताई जा रही है वो असल में कोई खास राहत है ही नहीं!

Image Source..The Hans india

अब ऐसा कैसे ? इसे बड़े आराम से.. धीरे धीरे समझिए देखिए आज यानि 22 मई को खबर ये आई है कि आपकी EMI को चुकाने पर पहले मिली 3 महीने की छूट को बढ़ाकर अब 6 महीने तक कर दिया गया है। यानि अगर इसे मोटे तौर पर समझें तो 6 महीने तक बैंक वाले आपको EMI चुकाने के लिए परेशान नहीं करेंगे।

लेकिन परेशानियां कहां से शुरू होती है। अब ये समझिए

परेशानी नंबर 1-देखिए अगर अभी EMI नहीं चुकाते हैं तो फिर इसमें नुकसान बैंक का नहीं आपका ही का है।आपके लोन की अवधि 6महीने तक बढ़ जाएगी. यही नहीं, इन 6 महीनों की EMI भले ही बाद में देना पड़े. लेकिन आगे इन 6 महीनों का पूरा ब्याज आपसे वसूला जाएगा। यानि बैंक आपको प्रैक्टिकली 1 रूपए की भी छूट नहीं दे रहे और ना ही खुद 1 रूपए का भी नुकसान सह रहे।यानि मूल तो आपको चुकाना है ही साथ ही इस 6 महीने के पीरियड पर लगने वाले ब्याज भी  आपको चुकाना ही चुकाना है। अब सोच कर देखिए कि फिर छूट क्या मिली ?

Image Source..The Financial Express

परेशानी नंबर 2- अगर किसी ग्राहक को होम लोन लिए ज्यादा दिन नहीं हुए हैं तो फिर तो उनके लिए मुश्किल और ज्यादा है। क्योंकि HOME LOAN की EMI के शुरूआती कंपोनेंट में ब्याज ज्यादा होता और मूलधन कम होता है। ऐसे में अभी 6 महीने की EMI का भुगतान नहीं किया तो इन 6 महीनों के ब्याज का बोझ ही उनपर  आगे और भारी पड़ जाएगा।

परेशानी नंबर 3-RBI द्वारा किए गए एलानों के तहत क्रेडिट कार्ड की EMI को चुकाने के लिए भी 6 महीने तक राहत दी गई है। लेकिन हम तो यही कहेंगे भईया कि क्रेडिट कार्ड अपनी EMI पेमेंट टाइम पर कर दें। इस राहत के चक्कर में ना फंसे, क्योंकि अगर 6  महीने तक ग्राहक कार्ड का पेमेंट नहीं करता है तो फिर सातवें महीने में पिछले 6 महीने के अमाउंट के साथ-साथ ब्याज भी चुकाना पड़ेगा.

Image Source..Money Control

बैंक क्रेडिट कार्ड पर मनमाने तरीके से ब्याज दर वसूलता है, यह ब्याज दर 40 फीसदी तक भी हो सकती है. ऐसे में ग्राहक ब्याज की जाल में फंस जाएगा. अच्छा और बेहतर विकल्प है कि तय समय पर ही क्रेडिट कार्ड का बिल जमा कर दें.

और अब सबसे खतरनाक बात !

मोराटोरियम से जुड़े मामलों में क्लैरिटी नहीं होने की वजह से इस ऑप्शन को चुनने वाले कस्टमर्स पर ब्याज कैसे और कब लगेगा, यह सब बैंकों पर निर्भर हो गया है, और बैंक ने अभी तक कोई नियम जारी नहीं किया है।इसलिए EMI से जुड़ी राहत पर ज्यादा खुश होने से पहले एक बार ठंडे दिमाग से सोचिएगा जरूर और फिर फैसला कीजिएगा कि आपको आगे करना क्याहै ?

Load More Related Articles
Load More By Lavanya Joshi
Load More In ट्रेंडिंग

Check Also

देश में मरते गरीब और पुलवामा ब्लास्ट : देशभक्त सरकार के सामने परेशानियां !

वैसे इस देश केदेशद्रोहियों का वाकईकुछ हो नहीं सकता। वो तो भला हो इस देश की देशभक्त सरकार क…