Home ट्रेंडिंग रामभक्त गोपाल ने जिस शादाब को गोली मारी, अगर उसके बारे में जानता तो खुद अपने ‘कुकर्म’ पर खून के आंसू रोता !

रामभक्त गोपाल ने जिस शादाब को गोली मारी, अगर उसके बारे में जानता तो खुद अपने ‘कुकर्म’ पर खून के आंसू रोता !

9 second read
0
0
143

कभी कभी तो ऐसा लगता है कि हमारे देश में ट्रैजेडी वाली कोई फिल्म चल रही है। सारे लोग इसमें अपना अपना साइड आर्टिस्ट टाइप का किरदार निभा रहे हैं। कुछ तगड़े वाले राजनेता अपनी मक्कारी और शैतानी दिमाग से मोगैम्बो और गब्बर जैसे खूनचूस विलेन को पीछे छोड़ने की रेस में लगे हैं। लेकिन है तो ये फिल्म ही। किसी फिल्म की तर्ज पर ही अचानक से कुछ ऐसा होता है कि सामान्य से दिखने वाला कोई लौन्डा अचानक से साइड आर्टिस्ट से हीरो बन जाता है। कहानी उस शादाब की है जिसे जामिया में गोपाल की गोली लगी !

अब विडंबना का खेल तो देखो बाबू भैय्या ! अपने नाम के आगे “रामभक्त” लगा के गोपाल नाम के जिस लड़के ने जामिया में गोली चलाई, उसने पता नहीं अपने जीवन में राम की कितनी सेवा की होगी। लेकिन गोपाल की गोली जिस शादाब को लगी वो तो कम से कम गोपाल से बड़ा ही राम का प्रेमी दिख रहा है।

शादाब की कुछ पुरानी तस्वीरें औऱ वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। जिनमें शादाब राम जी की सवारी के आगे आगे पूरी मौज मस्ती में नाचता और रामलीला को सेलिब्रेट करता नज़र आ रहा है। पहले ये वीडियो देखिए जिसमें आपको शादाब राम जी की सवारी के आगे नाचता हुआ नज़र आएगा !

Posted by चन्दन कुमार सिंह on Friday, January 31, 2020
वीडियो में राम जी सवारी के आगे लंबे बालों मस्ती में नाचता शादाब दिखेगा !

अब लगे हाथों ये तस्वीर भी देख लो… जिसमें शादाब राम जी के पीछे सेल्फी में आने की खुशी जता रहा है। भई वाह… ऐसी तस्वीरें देख सीना फख्र से चौड़ा होता है कि ये है हमारा हिन्दुस्तान ! ना हिन्दू, ना मुसलमान… ये है हमारा हिन्दुस्तान !

दोस्त रामजी के साथ सेल्फी ले रहा था, जोश में शादाब भी पीछे आ गया !

भई वाह… क्या आपको नहीं लग रहा कि वाकई ये किसी फिल्मी सीन जैसा ही है। क्योंकि नीचे दी गई इस तस्वीर में वही शादाब निहत्था तथाकथित रामभक्त गोपाल की तरफ बढ़ा जा रहा है। बंदूक तो रामभक्त गोपाल के हाथों में है लेकिन हम सबके हिन्दुस्तान की ताकत और शौर्य शायद शादाब की बाजुओ में भरा था इसलिए वो किसी नायक के समान एक सिरफिरे की गोलियों की परवाह किए बिना उसकी तरफ बढ़ रहा था !

ये तस्वीर इतनी ICONIC है कि इसे अभी से ही 2020 की सबसे शानदार तस्वीर घोषित कर देना चाहिए

ऐसा नहीं लग रहा कि कोई फिल्मी नायक किसी खलनायक की तरफ बढ़ा जा रहा है। बेखौफ.. बिंदास… उसकी गोलियों से बिना डरे हुए ! जी हां.. ऐसा ही होता है और ऐसी ही ताकत आ जाती है आपके दिल में जब आपके सीने में किसी धर्म या मजहब से पहले आपका अपना हिन्दुस्तान बसता है।

कोई नहीं… थोड़ा तेरा है… थोड़ा मेरा है… हम सबके ही लहू से तो हिन्दुस्तान बना है !

Load More Related Articles
Load More By Kundan Shashiraj
Load More In ट्रेंडिंग

Check Also

काश… दिल्ली का DNA करने वाले सुधीर चौधरी खुद अपना DNA कर लेते तो आईना देखने की हिम्मत नहीं होती !

लोग ट्विटर पर सवाल पूछ रहे हैं कि क्या सुधीर चौधरी अपने घर पर आईना देखते हैं ? 2000 रूपए क…