Home ट्रेंडिंग मोदी जी आप PM CARES FUND का मुंह देश की जनता के लिए कब खोलेंगे ?

मोदी जी आप PM CARES FUND का मुंह देश की जनता के लिए कब खोलेंगे ?

16 second read
0
0
14

अपने हर भाषण में 70 साल की दुहाई देने वाले पीएम मोदी के साथ एक बड़ी ट्रैजेडी हो गई है।
विरोधी कह रहे हैं कि पिछले 70 दिन में भारत सत्तर साल पीछे जाने की हालत में पहुंच गया है। जिन उद्योग धंधों को मजदूरों ने पिछले 70 सालों में अलग अलग शहरों में बसाया था वो सब के सब अब शहरों को छोड़कर निकल चुके हैं।

जिन स्मार्ट सिटी का गाना गा गाकर मोदी इतराते थे, उनकी बात तो छोड़िए.. अच्छे खासे चल रहे शहरों की बुनियाद तक हिल चुकी है और भारत 70 दिन में 70 साल पीछे जाने के मुहाने पर खड़ा है। अब ऐसे में मोदी के प्रशंसक एक सवाल पूछ सकते हैं कि आखिर जब कोराना की वजह से हालात खराब हो रहे हैं तो फिर ऐसे में भला बेचारे मोदी क्या कर सकते है ?
तो सुनिए..

PM CARES फंड अगर ऐसे ही वक्त के लिए तैयार नहीं किया गया था तो फिर ये कब खर्च किया जाएगा ?

Image Source..Live law

सरकारी खजाना और राहत पैकेज का एलान अगर 50 दिन बीतने के बाद भी नहीं होगा तो फिर कब होगा ?

देश में हालात इस वक्त बिल्कुल ही बिखरे हुए हैं। मज़दूरों को ये नहीं पता कि उन्हें आगे क्या करना है और कारोबारी अब अपना कारोबार फिर से खोलने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे !ऐसे दौर में ही सरकार की तरफ से पैकेज अनाउंसमेंट काफी जरूरी होती है। और इसी अनाउंसमेंट से कारोबारियों और मजदूरों में विश्वास बना रहता। अगर पैकेज की अनाउंसमेंट सही वक्त पर हो जाती तो शायद मजदूर शहर छोड़कर गांव की तरफ रूख ना करता और अर्थव्यवस्था के ऐसे हिलने के हालात पैदा ना होते।

हालात एकदम PANIC हैं लेकिन इन हालातों में भी सरकार की इस कछुआ चाल से विपक्ष को भी अब हमले का मौका मिल रहा है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पीएम मोदी और मोदी केयर्स फंड पर सवाल उठाते हुए कई अहम बातें कही हैं।राहुल गांधी ने सरकार से मांग की है कि इस वक्त हर गरीब-मजदूर के खाते में पैसा डालने की जरूरत है। राहुल के मुताबिक लेकिन सरकार ऐसा करने से डर रही है क्योंकि केंद्र सरकार सोच रही है कि अगर तेजी से पैसा खर्च करना शुरू कर देंगे, तो रुपये की हालत खराब हो जाएगी।

Image Source..Frontline-The Hindu

इतना ही नहीं राहुल गांधी ने PM CARES FUND पर भी सवाल उठाए हैं और कहा है कि इस FUND का ऑडिट होना जरूरी है ताकि जनता को पता चल सके कि खर्चा कितना हुआ है ?
जाहिर तौर पर देश में हालात काफी मुश्किल हैं। ऐसे वक्त में प्रधानमंत्री मोदी को अब जनता के साथ लगातार संवाद करने की जरूरत है लेकिन पीएम मोदी साप्ताहिक कार्यक्रम की तरह हफ्ते में एक बार आते हैं या वो भी नहीं।

आते भी हैं तो मोदी के एलानों में कुछ खास नहीं होता। ऐसे में अब आगे हम क्या ये उम्मीद कर सकते हैं कि मोदी जल्द ही तमाम कारोबारियों और मजदूरों के लिए आर्थिक राहत पैकेज का एलान जल्दी ही करें। आप भी नीचे कमेंट सेक्शन में अपन राय जरूर रखिए।

Load More Related Articles
Load More By Lavanya Joshi
Load More In ट्रेंडिंग

Check Also

KBC में 1 करोड़ जीतने वाले इस नन्हे बच्चे ने फिर से कमाल कर दिया है

आज से 19 साल पहले इस देश में एक करिश्मा हुआ था जब सिर्फ 14 साल के इस बच्चे ने KBC में 1 कर…