Home टीवी गॉसिप महाभारत के युधिष्ठर की अनसुनी कहानियां : दिल्ली के AIIMS में सीटी स्कैन से एक्टिंग तक !

महाभारत के युधिष्ठर की अनसुनी कहानियां : दिल्ली के AIIMS में सीटी स्कैन से एक्टिंग तक !

16 second read
0
0
132

लॉकडाउन के इस दौर में रामायण के साथ साथ महाभारत के किरदार भी खूब पॉपुलर हो रहे हैं। और इस वक्त गजेंद्र चौहान यानि कि महाभारत के युधिष्ठर की कहानियां खूब मशहूर हो रही हैं।
हम भी आपको इस वीडियो में गजेंद्र चौहान की 3 ऐसी कहानियां बता रहे हैं जो शायद कम लोग ही जानते होंगे।

पहली बात : दिल्ली के AIIMS में काम करते थे गजेंद्र चौहान

एक्टिंग की फील्ड में आने से पहले गजेंद्र चौहान दिल्ली के AIIMS यानि ऑल इंडिया इंस्टीट्यूड ऑफ मेडिकल साइंसेज में काम करते थे। आपको बता दें कि गजेन्द्र का जन्म दिल्ली में हुआ था। घर पर 4 भाई और 4 बहनों में गजेंद्र घर के सबसे छोटे और लाडले थे। गजेंद्र ने AIIMS में 2 साल पढ़ाई की और फिर वहीं जॉब भी हासिल कर ली।

image source ..Dainik bhaskar

दूसरी बात : पिता चाहते थे IAS ऑफिसर बनें गजेंद्र

दरअसल गजेंद्र चौहान पढ़ाई लिखाई में काफी होशियार थे। जब गजेंद्र ने एम्स में जॉब शुरू कर दी तो उनके पिता ने ही 2 साल बाद उनकी नौकरी छुड़वा दी। गजेंद्र के पिता चाहते थे कि वो और पढ़लिखकर IAS यानि कि कलेक्टर बनें। गजेंद्र ने भी अपनी पिता की ख्वाहिश की खातिर नौकरी छोड़ दी और IAS की तैयारी शुरू कर दी। लेकिन वो बार बार IAS की परीक्षा में चूकते रहे। आखिरकार गजेंद्र ने आईएएस बनने का इरादा छोड़ दिया और वो एक्टिंग सीखने के लिए मुंबई रवाना हो गए।

image source..ajj tak

तीसरी बात : हनुमान ने बचाई थी गजेंद्र की जान !

ये बात कम लोग ही जानते हैं कि गजेंद्र चौहान खुद भगवान हनुमान के बहुत बड़े भक्त हैं। गजेंद्र चौहान ऐसा मानते हैं कि उनकी जान हनुमान ने बचाई है और आज अगर वो जीवन जी पा रहे हैं तो सिर्फ और सिर्फ हनुमान की वजह से। गजेंद्र इससे जुड़ा एक किस्सा सुनाते हुए बताते हैं कि एक बार वो रेलवे ट्रैक पर फंस गए थे। तेज रफ्तार ट्रेन उनकी तरफ बढ़ी आ रही थी। इसके बाद का उन्हें कुछ भी याद नहीं। उन्होंने अपने आप को सीधा प्लेटफॉर्म पर खड़ा पाया। गजेंद्र चौहान ऐसा मानते हैं कि भगवान हनुमान ने ही उन्हें बचाया।

पढ़ने लिखने में काफी होशियार और हमेशा अपने पिता के आज्ञाकारी रहे गजेंद्र चौहान पुणे में FTII के चेयरमैन भी बने। हालांकि उन्हें लेकर बाद में काफी विवाद भी हुआ और उन्हें अपना पद छोड़ना पड़ा। अब एक बार फिर जब से महाभारत का दोबारा प्रसारण शुरू हुआ है, एक बार फिर से वो सुर्खियों में हैं।

Load More Related Articles
Load More By Lavanya Joshi
Load More In टीवी गॉसिप

Check Also

देश में मरते गरीब और पुलवामा ब्लास्ट : देशभक्त सरकार के सामने परेशानियां !

वैसे इस देश केदेशद्रोहियों का वाकईकुछ हो नहीं सकता। वो तो भला हो इस देश की देशभक्त सरकार क…