Home ट्रेंडिंग जब सरकारें कॉमेडियन पर डंडा चलाने लगें तो समझो देश में राजनीति की असली “जोकरई” चालू हो गई है !

जब सरकारें कॉमेडियन पर डंडा चलाने लगें तो समझो देश में राजनीति की असली “जोकरई” चालू हो गई है !

1 min read
0
0
177

कुणाल कामरा को लेकर सोशल मीडिया जोक्स का बाजार एकदम गरम है। लेकिन उससे भी ज्यादा गरम है जी हजूरी वाला तवा और सब उस पर अपनी चापलूसी की रोटियां सेंक कर ये साबित करने में जुटे हैं कि कामरा के सांस लेने पर भी बैन लगा दिया जाए तो ही सही होगा ! चार बड़ी एयरलाइन्स कंपनियों ने तो कामरा के अगले 6 महीने तक उड़ने पर पाबंदी लगाई ही लगाई लेकिन अब खबर आ रही है कि भारतीय रेल भी सोच रही है कामरा के ट्रेन से चलने पर रोक ही लगा दी जाए।

जियो जिंदाबाद…. भई वाह…. !
ऐसा लग रहा है जैसे राजनीति और देश ना चल रहा हो… किसी कॉमेडी फिल्म का क्लाइमैक्स चल रहा हो !

सवाल ये भी है कि आखिर कामरा पर ही अचानक सबके बुद्धि, विवेक और अनुशासन का बैंक अकाउंट क्यों खुल गया ? लोग तो सोशल मीडिया पर ये सवाल भी पूछ रहे हैं कि उस वक्त इन एयरलाइंस कंपनियों का विवेक कहां शौच करने चला गया था जब टेक ऑफ के लिए तैयार फ्लाइट में रिपब्लिक टीवी की मोहतरमा रिपोर्टर तेजस्वी से सवाल पर सवाल दागे जा रही थीं। तेजस्वी भी उनसे अपने निजी स्पेस में ना घुसने का आग्रह कर रहे थे और एयर होस्टेस भी रिपोर्टर मैडम से बैठने की रिक्वेस्ट किए जा रही थीं।

वीडियो तो देख लीजिए पहले ज़रा –

जिस रिपब्लिक टीवी के आका को परेशान करने के जुर्म में कामरा को ताबड़तोड़ सजाएं सुनाई जा रही हैं उन्हीं के चैनल की महिला रिपोर्टर ने फ्लाइट में घुसकर “दबंग” इंटरव्यू लिया था !

दूसरी कहानी बीजेपी के नवरत्नों में से एक सांसद प्रज्ञा ठाकुर जी की है। आरोप है कि मनचाही सीट के चक्कर में उन्होंने खूब बहस भी की और फ्लाइट को 45 मिनट लेट भी करवाया। उनका वीडियो भी काफी वायरल हुआ था। आपकी यादगारी के लिए एक बार फिर से यहां नीचे लगा दे रहे हैं।

“देशभक्त” सांसद प्रज्ञा ठाकुर का वीडियो

लेकिन अब तक सारी कहानी मस्ती में चलती रही। किसी की नींद ना खुली थी और ना ही एयरलाइन कंपनियों में अनुशासन का भूत सवार हुआ था। आखिर ऐसा क्यों ? सवाल ये है कि क्या केंद्रीय मंत्री के ट्वीट करने के बाद एक कॉमेडियन को सबक सिखाने का अभियान शुरू हुआ ? क्योंकि मंत्री जी ने अपने ट्विट में ये साफ इशारा किया था कि वो चाहते हैं कि बाकी एविएशन कंपनियां भी कामरा के खिलाफ ऐसा ही एक्शन ले कर दिखाएं।

जैसे ही Indigo ने कामरा को सस्पेंड किया, मंत्री जी ने फौरन ये ट्वीट किया

और फिर लीजिए दे दनादन… ऐसा लगा कि बस एक कॉमेडी फिल्म के क्लाईमैक्स की तरह तमाम एयरलाइन्स कंपनियां दनादन कामरा को बैन करने का फरमान सुनाने लगी। क्या नीलामी को तैयार एयर इंडिया और क्या बाकी दूसरी कंपनी !

खैर… हम यहां बात कामरा को प्रोटेक्ट करने की तो कर ही नहीं रहे। गलत किया है तो सजा लाजमी है। लेकिन कानून और नियम तो सबके लिए बराबर होंगे ना ? या फिर यहां पर कानून राजाजी की मरज़ी से चलेगा और सजाएं तय होंगी इस बात पर कि तुम्हारा चेहरा अच्छा नहीं तो तुम सजा भुगतोगे ही भुगतोगे !

कुणाल कामरा अपने ट्विटर अकाउंट पर भारत की मौजूदा स्थिति का मजाक उड़ाते हुए लिखते हैं कि भारत गणतंत्र का पैरोडी अकाउंट है। यानि यहां डेमोक्रेसी के नाम पर सिर्फ मजाक होता है। अब पिछले 24 घंटे में मामला एयरलाइन्स से भारतीय रेल तक पहुंच चुका है।

ट्विटर का पूरा मार्केट इन मजाकों से भरा पड़ा है कि अब कामरा को चलने के लिए बस बैलगाड़ी का सहारा बचा है, क्योंकि एयरलाइन्स से लेकर बस और ऑटो एसोसिएशन भी उन्हें 6 महीने के लिए BAN कर चुके हैं। बस और ऑटो एसोसिएशन द्वारा कामरा को बैन करने के ट्वीट कुछ मौज मस्ती वाले पैरोडी ट्विटर हैंडल से किए गए थे।

एक पैरोडी अकाउंट से किया गया Tweet

अब जब तक ऐसे वैसे हैंडल से मस्ती मजाक चलता रहे तो ठीक, लेकिन 30 जनवरी की शाम ढलते ढलते जब भारतीय रेल द्वारा भी इस बात का इशारा सामने आने लगा तो ऐसा लगा कि सच में हद हो रही है।

30 जनवरी की शाम भारतीय रेल की खबरें भी छाने लगी

क्या ये एक कॉमेडियन को सबक सिखाने के नाम पर सिस्टम और संस्थाओं की जोकरई शुरू हो चुकी है ? हमारी तो उमर कम है लेकिन हमारे बाबा लल्लननाथ ये कह के मरे थे कि जब देश जोकरों और विदूषकों से डरने लगे तो समझ लेना कि राजनीति में असली जोकरई चालू हो गई है !

Load More Related Articles
Load More By Aditi Sawant
Load More In ट्रेंडिंग

Check Also

जिस APP का पीएम ने इतना गुणगान किया, एक HACKER ने 50 मिनट में उसकी पोल खोल दी

लॉकडाउन का एलान करते वक्त पीएम मोदी बार बार एक APP का नाम लेते थे। इस एप का नाम था – आरोग्…