Home ट्रेंडिंग Zomato के Founder ने जो काम किया है, उसे जानकर आप उन्हें खड़े होकर सलाम करेंगे !

Zomato के Founder ने जो काम किया है, उसे जानकर आप उन्हें खड़े होकर सलाम करेंगे !

2 min read
0
0
118

देश में फूड डिलीवरी कंपनी Zomato की स्थापना करने वाले शख्स ने आज सुबह सुबह एक ऐसा ट्वीट किया जिससे वो अचानक पूरे देश में ट्रेंड करने लगे। कुछ लोग उन्हें बधाईयां देने लगे तो कुछ लोगों ने उन्हें उनकी हिम्मत के लिए सलामी दी तो वहीं कुछ लोग उन्हें कोसने भी लगे। लेकिन पूरा मसला जानकर आप भी शायद उनके लिए तालियां बजाएंगे !

आज की तारीख में जहां आदमी पैसों के लिए अपना ईमान भी बेचने से पीछे नहीं हटता, वहीं Zomato India के बिग बॉस दीपिन्दर गोयल ने एक बड़ा ख़तरा उठाते हुए नफरती चिंटू को ऐसा जवाब दिया कि उसकी बोलती बंद हो गई। आप तो जानते ही हैं कि फिलहाल देश में माहौल थोड़ा हिन्दू मुस्लिम टाइप चल रहा है। इस माहौल में नए नए नेता बनने को आतुर कुछ नफरती चिंटू भी अपनी रोटियां सेंककर अपनी राजनीति चमकाने को बेताब रहते हैं। ऐसे में ट्विटर पर एक मसला सामने आया।

ट्विटर हैंडल @NaMo_SARKAAR वाले “सज्जन” पंडित अमित शुक्ल ने फूड डिलीवरी सर्विस Zomato को हड़काते हुए एक ट्वीट किया। ट्वीट का लब्बोलुआब ये था कि जिस शख्स के हाथों उनका खाना भेजा गया वो हिन्दू नहीं था। इनको खाने की डिलीवरी किसी हिन्दू के हाथों से ही चाहिए थी, लिहाजा वो भड़क गए और उन्होंने Zomato को अपना ऑर्डर कैंसल करने के लिए कहा। बात बढ़ी तो अमित शुक्ल ने Zomato के खिलाफ ट्वीट कर डाला।

शायद उन्हें उम्मीद रही होगी कि वो ZOMATO के बहिष्कार का आंदोलन खड़ा कर देंगे और हिन्दू संस्कृति को बचाने वाले ट्रोलवीरों के सामने Zomato उनसे माफी मांगने को तैयार हो जाएगा। अगर इन जनाब को ऐसा लग रहा था तो इसमें गलत भी नहीं था। आपको याद ही होगा कि कुछ ऐसे ही मिलते जुलते माहौल में ट्रोल आर्मी ने साल 2016 में SnapDeal का विज्ञापन करने वाले आमिर खान के खिलाफ मुहिम चलाई गई थी और बाद में अपना बिजनेस बचाने के डर से कंपनी ने आमिर खान से पल्ला भी झाड़ लिया था।

2016 में जब आमिर SNAPDeal के लिए AD कर रहे थे

उत्साही ट्रोल हमेशा इस बात की ताक में रहते हैं कि कैसे नफरत को मुद्दा बनाकर “सस्ता हीरो” बना जाए। लेकिन इस बार मसला जरा उल्टा पड़ गया। पहले तो खुद ZOMATO के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से दिव्य ज्ञान दिया गया बाद में कंपनी के इंडिया हेड दीपिन्दर गोयल ने भी इन्हें मुंहतोड़ जवाब दे दिया।

ZOMATO ने धर्म के सवाल पर लिखा कि खाने का कोई धर्म नहीं होता। खाना ही अपने आप में धर्म है !

वहीं इससे एक कदम और आगे बढ़ते हुए ZOMATO के संस्थापक दीपिन्दर गोयल ने लताड़ लगाते हुए दिल की बात कह डाली। दीपिन्दर ने कहा कि धंधे के लिए हम अपने मूल्यों के साथ समझौता नहीं करते और हमें भारत की विविधता पर गर्व है।

आपको बता दें कि Zomato और उसके बॉस के इस रिस्पांस को पूरे सोशल मीडिया पर एकदम लवली लवली रिस्पांस मिल रहा है। लोग Zomato और दीपिन्दर के कदम की तारीफ कर रहे हैं। कई पत्रकारों और सेलिब्रेटीज़ ने दीपिन्दर के जवाब की सराहना की है।

हालांकि इस कहानी को लिखते लिखते लेटेस्ट अपडेट ये भी है कि सोशल मीडिया पर ZOMATO के खिलाफ और पक्ष में जंग शुरू हो चुकी है। कुछ लोग ZOMATO पर दोहरे स्टैंडर्ड का आरोप लगा रहे हैं और हलाल मीट से जुड़ा एक पुराना मसला भी उछाला जा रहा है। वहीं कुछ लोग अपने मोबाइल से ZOMATO का एप डिलीट और UnInstall करने के स्नैपशॉट और वीडियो शेयर कर रहे हैं।

Load More Related Articles
Load More By Rachna Goswami
Load More In ट्रेंडिंग

Check Also

क्या सच में कांग्रेस की “नेताइन” महज़ पांच सौ रूपए में “बेच” रही थीं अपने ट्वीट ?

इस वक्त ट्विटर पर बड़ा हंगामा मचा है। 500 – 500 – 500 के रेट वाले ट्वीट खूब वा…